फैलने वाली गंभीर बीमारी की तरह हैं बिटकॉइन जैसी क्रिप्टोकरेंसीज: चार्ली

Business Career/Jobs Cover Story Crime Entertainment Exclusive Health INTERNATIONAL Life Style National Politics Press Release Religion/ Spirituality/ Culture SPORTS State's अन्तर्द्वन्द उत्तर प्रदेश उत्तराखंड गुजरात गोवा छत्तीसगढ़ जम्मू कश्मीर झारखण्ड दिल्ली/ NCR पंजाब पश्चिम बंगाल बिहार मध्य प्रदेश महाराष्ट्र राजस्थान स्थानीय समाचार हरियाणा हिमाचल प्रदेश

बिटकॉइन जैसी क्रिप्टोकरेंसीज पर भारत समेत दुनियाभर में बहस जारी है। अब इसमें अमेरिका के दिग्गज निवेशक चार्ली मुंगेर (Charlie Munger) भी कूद पड़े हैं। लंबे समय से वॉरेन बफे के बिजनेस पार्टनर मुंगेर का कहना है कि क्रिप्टोकरेंसी फैलने वाली गंभीर बीमारी की तरह है और इस पर बहुत पहले ही बैन लग जाना चाहिए था।

98 साल के मुंगेर 1978 से बफे की कंपनी Berkshire Hathaway Inc के वाइस चेयरमैन हैं। रॉयटर्स के मुताबिक मुंगेर ने एक कार्यक्रम में कहा कि क्रिप्टोकरेंसी पर शुरुआत में ही बैन लग जाना चाहिए था। उन्होंने कहा, ‘मैं इस बात पर गर्व महसूस करता हूं कि मैं इससे दूर ही रहा। यह फैलने वाली किसी गंभीर बीमारी की तरह है। मेरी नजर में इसकी कोई कीमत नहीं है।’

बफे और मुंगेर

उन्होंने कहा कि कुछ लोग इसे आधुनिकता मानते हैं और इस तरह की करेंसी का स्वागत करते हैं जो फिरौती, उगाही और टैक्स चोरी में उपयोगी है। इससे पहले बर्कशायर के चेयरमैन और सीईओ वॉरेन बफे ने भी क्रिप्टोकरेंसी को चूहे मारने वाला जहर बताया था और कहा था कि इसकी कोई कीमत नहीं है।

बफे और मुंगेर की मुलाकात 1959 में हुई थी। 1961 में वे सात पार्टनरशिप कंपनियां चला रहे थे। उन्होंने अपना पहला मिलियन डॉलर इनवेस्टमेंट Dempster में किया था।

आज कई कंपनियों में बर्कशायर हैथवे का निवेश है। इनमें American Express, Apple, Bank of America, Coca-Cola, General Motors, Moody’s, Verizon शामिल हैं।

-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *