किशोरी की मौत के बाद जिले का स्वास्थ्य विभाग हुआ सक्रिय

इटावा उत्तर प्रदेश
बकेवर/इटावा। गत शनिवार की देर शाम हुई कस्वा के एक निजी अस्पताल में किशोरी की मौत के बाद जिले का स्वास्थ्य विभाग सक्रिय हुआ व कस्वा महेवा के अन्य निजी क्लीनिकों की सघन जाँच भी की कुछ संचालक बन्द करके भाग गये।
विदित हो कि किशोरी की इलाज के दौरान हुई मौत के बाद स्वास्थ विभाग हरकत में आया व दो टीमों का गठन कर महेवा के उक्त अस्पताल के अलावा अन्य निजी अस्पतालों व लेबो के संचालक जाँच की सूचना पर भाग गये। डिप्टी सीएमओ डॉ यतेंद्र राजपूत व  डॉ अबधेश यादव की सयुंक्त टीम ने कस्वा महेवा में पहुँचकर निजी हॉस्पिटल को सील कर दिया।
डॉ राजपूत ने बताया कि उक्त अस्पताल मानक विहीन अवस्था मे तथा फर्जी रूप से संचालित था अतः अस्पताल को सील करके वैधानिक कार्यवाही की जायेगी। दोनों अधिकारी निवाड़ीखुर्द  स्थित मृतक किशोरी के घर भी गये व परिजनों से बातचीत की। सीएमओ इटावा भगवान दास ने तत्काल टीम गठित की जिसमें डिप्टी सीएमओ डॉ अवधेश डिप्टी सीएमओ डॉ यतेंद्र राजपूत और स्वास्थ टीम सहित तत्काल भेजा और महेवा का क्लीनिक सीज करते हुए अन्य कई क्लीनिक भी चेक किए जो फर्जी पाए गए जिसमें लखना रोड पर एक बकेवर अपोलो न्यू अपोलो नामक हॉस्पिटल के नाम से काफी वर्षों से चल रहा जिसकी कई बार शिकायत होने पर भी कोई स्वास्थ्य विभाग ने उस पर विचार नहीं किया जब एक किशोरी की मृत्यु होने के बाद सभी स्वास्थ्य विभाग जागा और सारे क्षेत्र में हॉस्पिटलों को चेक कराया जिसमें कई हॉस्पिटल सीज किए गए कई बंद करके भाग गए अब देखना यह है क्या फर्जी स्वास्थ्य विभाग हॉस्पिटल चलते रहेंगे क्या ऐसे ही तमाम उपचार के हेतु म्रत्यु होती रहेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *