औंछा पुलिस की कार्रवाई से अन्न देवताओं में आक्रोश – अपराधी किस्म के ग्राम प्रधान पर भी कार्रवाई की मांग

उत्तर प्रदेश मैनपुरी

मैनपुरी। औंछा थाना व तहसील कुरावली क्षेत्र के गांव ईसई खास में पुलिस द्वारा महिलाओं से अभद्रता करते हुए की गई कार्रवाई का विरोध थमने का नाम नही ले रहा है। मंगलवार को गांव के ही किसानों ने महिलाओं के साथ गांव स्थित पुलिस चौकी का घेराव करके प्रशासन मुर्दाबाद के नारे लगाएं।
ज्ञात हो कि शनिवार को औंछा थानेदार ने पुलिस फोर्स के साथ गांव पहुंचकर ग्रामीणों को ग्राम प्रधान और भूमि प्रबन्धन समिति द्वारा आवंटित किए गए पट्टे की भूमि पर ग्रामीणों के कीमती सामान पर बुलडोजर चलवा दिया था। यह पूरी कार्रवाई अपराधी किस्म के ग्राम प्रधान सुनील कुमार के इशारे पर हुई। कार्रवाई के दौरान ग्राम प्रधान साथ था। मामले की शिकायत ग्रामीणो ने डीएम से की थी। डीएम के निर्देश पर मंगलवार को तहसीलदार टीम को लेकर गांव पहुंचे और उन्होंने विधिवत पत्रों की जांच आरंभ की, जिससे यह स्पष्ट हो सके कि जो पट्टे आवंटित किए गए हैं, वह वैद्य है या नहीं। जांच टीम के समक्ष ग्रामीणो ने 23 दिसंबर 2020 की भूमि आवंटन समिति की बैठक की कार्यवाही के वीडियो ,ऑडियो और फोटो तहसीलदार कुरावली को सौंपे दिए है। जांच दल के समक्ष ग्रामीणो ने अपने दस्तावेज दिखाकर पट्टो को वैद्य वताया हैं।
मंगलवार को ग्रामीणों ने महिलाओं संग गांव स्थित पुलिस चौकी का घेराव कर प्रशासन मुर्दावाद के नारे भी लगाएं। ग्रामीणों की मांग है कि औंछा पुलिस पर कार्रवाई के साथ अपराधी किस्म के ग्राम प्रधान पर भी कड़ी कार्रवाई होनी चाहिए। इस मौके पर पंडित गिरीश चंद्र, भूरे शाक्य, सुखवीर सिंह, रामपाल, लीलावती, रीता मिश्रा, कुंवर पाल सिंह, रामलड़ैते, शेख चंद्र, आदेश पाठक, राजू पाठक, डॉ रमाकांत शर्मा आदि मौजूद रहे।

प्रधान करना चाहता है जमीन पर अवैध कब्जा
ग्रामीण श्रीकृष्ण साहू व नवाब सिंह ने बताया कि ग्राम प्रधान सुनील कुमार षड्यंत्र के तहत पुलिस चौकी के पास वाली जमीन पर कब्जा करना चाहता है और अवैध रूप से उनके पट्टो को निरस्त कराना चाहता है। इसी कारण वह थाना औंछा पुलिस से मिलकर षड्यंत्र रच रहा है। शनिवार की पुलिसिया कार्रवाई इसी षड्यंत्र का हिस्सा है। जबकि हाईकोर्ट प्रयागराज से स्पष्ट आदेश है कि पट्टों का निस्तारण एसडीएम कुरावली करें उसके बाद ही कोई कार्यवाही की जाए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *