सिंधु नगरी महोत्सव में दुल्हन की तरह सजेगा बल्केश्वर घाट

आगरा आस्था उत्तर प्रदेश धार्मिक स्थानीय समाचार

राष्ट्रीय सिंधी महासंघ द्वारा झूलेलाल जयन्ती के उपलक्ष्य में किया जाएगा आयोजन,वॉटर वर्क्स से बल्केश्वर घाट तक बनेंगे तरुण द्वार

झूलेलाल साईं की सैकड़ों ज्योतियों का यमुना मैया में पल्लव के साथ विधि विधान से होगा विसर्जन
आगरा। दो अप्रैल को सिंधी समाज के केन्द्रीय कार्यक्रम सिंधु नगरी महोत्सव में बल्केश्वर घाट को जगमग करती रोशनी, गुब्बारों और फूलों से दुल्हन की तरह सजाया जाएगा। राष्ट्रीय सिंधी महासंघ द्वारा झूलेलाल जयन्ती के उपलक्ष्य में आयोजित 24वां सिंधु नगरी महोत्सव में वाटर वर्क्स से लेकर बल्केश्वर घाट तक सिंधि संतों के नाम से कई तरुण द्वार सजाए जाएंगे। भक्ति, संस्कृति और कला के संगम के भव्य सिंधु नगरी महोत्सव में साईं लीलाशाह की झांकी भी सजेगी। वहीं भजन संध्या में समाज के कलाकारों द्वारा लोकगीत व भक्ति के स्वरों की राग यमुना किनारे पर बहेंगे।  यह जानकारी झूलेलाल धर्मशाला, बल्केश्वर में आयोजित महोत्सव के पोस्टर विमोचन कार्यक्रम में अध्यक्ष महेश कुमार सोनी, महासचिव मनोहर लाल हंस ने दी। बताया कि आगरा व आसपास के क्षेत्रों की पंचायतों, धर्मशालाओं, मेला व बाजार कमेटियों की सैकड़ों साईं झूलेलाल ज्योतियों को सिंधु में नगरी में लाए जाने पर तोपों द्वारा पुष्प वर्षा कर स्वागत होगा। नाव में बैठ यमुना मैया की बीच धारा में इन ज्योतियों को महन्तों द्वारा पल्लव (मंत्रोच्चारण) के साथ विधि विधान से विसर्जित किया जाएगा। जितेन्द्र त्रिलोकानी व श्याम भोजवानी ने बताया कि इस अवसर पर फूल बंगला व समाज के उत्थान के लिए कार्य करने वाली विभूतियों को सिंधु रत्न सम्मान से सम्मानित किया जाएगा। मुख्य अतिथि सिंधी सेन्ड्रल पंचायत के पूर्व अध्यक्ष जीवतराम करीरा होंगे। इस अवसर पर मुख्य रूप से गिरधारीलाल करमचंदानी, खेमचंद, नंदलाल आसवानी, रामचंद्र हंसानी, खेमचंद तैजानी, राजू खेमानी, महेश मदनानी आदि उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *