चंबल सेंचुरी इको टूरिज्म को बाह विधायक रानी पक्षालिका भदावर ने दिखाई हरी झंडी किया शुभारंभ

Politics आगरा उत्तर प्रदेश बीजेपी भाजपा स्थानीय समाचार

मोर्निंग सिटी संवाददाता

पिनाहट/ आगरा । ब्लाक जैतपुर क्षेत्र के नदगवां चंबल नदी घाट पर वन विभाग आगरा द्वारा चंबल सेंचुरी क्षेत्र में ईकोटूरिज्म सीजन 2022-23 की शुरुआत हुई जिसे लेकर विधायक बाह ने हरी झंडी दिखाकर इको टूरिज्म का शुभारंभ कर मोटरबोट द्वारा चंबल नदी का शहर का भ्रमण किया। आपको बता दें बाह पिनाहट क्षेत्र से सटी चंबल नदी में विश्व विलुप्त प्राय घड़ियाल और मगरमच्छ का संरक्षण हो रहा है। लगातार इनका कुनबा चंबल नदी में बढ़ रहा है तो वहीं जलीय जीव कछुआ, डॉल्फिन, मछलियां, एवं नदी किनारे जंगल में देसी विदेशी पक्षियों के साथ काले और लाल हिरन एवं जंगली जानवर भारी संख्या में देखे जा सकते हैं। दिन की मॉनिटरिंग और देखरेख वन विभाग कर्मियों द्वारा लगातार की जाती है। चंबल नदी एक प्राचीन और शुद्ध जल की नदी मानी जाती है। जो राजस्थान से निकलकर पचनदा इटावा तक पहुंचती है। धौलपुर से पचनदा तक चंबल सेंचुरी क्षेत्र घोषित है जिसमें जलीय जीवो का संरक्षण हो रहा है।

सर्दियों के मौसम में जलीय जीव घड़ियाल और मगरमच्छ कछुआ डॉल्फिन चंबल के टापुओं पर देखे जा सकते हैं। इन दिनों भारी संख्या में देसी विदेशी पक्षी टेल टिंगो, प्लेसिस गल, ब्लैक नेंड स्टार्ड, ब्लैक आइविस, विसलिंग टील, रूडी शेल्डक, पेंटेड स्टोर्क, कार्बोनेट, बार हेडेड समेत दो दर्जन से अधिक प्रजातियों के करीब पांच हजार विदेशी पक्षी चंबल किनारे डेरा डाल लेते हैं। रूस के साइबेरिया आदि क्षेत्रों में बर्फ गिरने के बाद ये पक्षी भोजन और प्रजनन के लिए हजारों किलोमीटर की उड़ान भरकर नवंबर माह में चंबल नदी के किनारे आना शुरू हो जाते हैं। नदी किनारे अनुकूल वातावरण के चलते ये पक्षी फरवरी के आखिरी सप्ताह तक यहां रहते हैं। फरवरी के बाद मौसम में गर्मी बढ़ते ही पक्षी अपने बच्चों के साथ फिर अपने देश को लौट जाते हैं। तीन महीने चंबल क्षेत्र विदेशी पक्षियों के प्रवास से गुंजायमान रहता है। इस दौरान चंबल सफारी किसी बड़े पक्षी विहार से कम नहीं लगता है। जिन्हें देखने के लिए देसी और विदेशी पर्यटक हर वर्ष यहां भारी संख्या में पहुंचते हैं और शुद्ध वातावरण ईकोटूरिज्म का आनंद लेते हैं। इसे बढ़ावा देने के लिए वन विभाग आगरा चंबल सेंचुरी क्षेत्र में इको टूरिज्म सीजन 2022- 23 की शुरुआत की जा चुकी है। मंगलवार को जैतपुर ब्लॉक क्षेत्र के चंबल नदी नंदगांव घाट पर वन विभाग द्वारा इको टूरिज्म कार्यक्रम का आयोजन किया गया। जहां मुख्य अतिथि के रूप में पहुंची क्षेत्रीय विधायक बाह रानी पक्षालिका सिंह का आरके सिंह राठौड़ रेंजर चंबल सेंचुरी बाह ने फूलों के बुके भेंट कर स्वागत सम्मान किया। वही विधायक और रेंजर ने हरी झंडी दिखाकर इको टूरिज्म का शुभारंभ किया। चंबल नदी में मोटर वोट द्वारा विधायक ने वन विभाग कर्मियों के साथ चंबल की सरकार दूरबीन द्वारा जल ही जीवन एवं पक्षियों को देखकर  इको टूरिज्म का भरपूर आनंद लिया। चंबल सेंचुरी में इको टूरिज्म की शुरुआत को लेकर विधायक रानी पक्षालिका सिंह ने कहा कि चंबल नदी स्वच्छ एवं शांत वातावरण वाली नदी है। यहां की सैर करना बहुत ही अच्छा है। चंबल सेंचुरी में घड़ियाल और मगरमच्छ सहित अन्य जलीय जीव संरक्षित हैं। कई प्रकार के पक्षी यहां देखने को मिलेंगे। ज्यादा से ज्यादा पर्यटक ईकोटूरिज्म का लुफ्त ले सकेंगे। हर वर्ष की भांति देसी विदेशी विदेशी पर्यटकों के पहुंचने की उम्मीद जताई गई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *