दबंग ग्राम प्रधान ने किसान की जमीं पर किया कब्ज़ा किसान ने तहसील प्रांगण में किया धरना  शुरू

उत्तर प्रदेश हाथरस
हाथरस। तहसील क्षेत्र के थाना हाथरस जंक्शन क्षेत्र के गांव मान महौ में एक दबंग ग्राम प्रधान द्वारा एक छोटे किसान के खेत में से जबरन चक मार्ग निकाल दिए जाने से किसान की खेती का रकबा जहां कम हो गया है। वहीं किसान द्वारा अधिकारियों के लगातार चक्कर काटने के बावजूद उसे न्याय नहीं मिलने पर  किसान द्वारा तहसील प्रांगण में धरना देकर शुरू किया गया अनशन आज भी जारी रहा और अनशन के दौरान किसान के साथ गांव के तमाम अन्य किसान भी मौजूद थे।
तहसील सदर क्षेत्र के थाना हाथरस जंक्शन क्षेत्र के गांव मान महौ निवासी एक लघु किसान राजकुमार पुत्र प्यारेलाल  मौजा ग्राम दतोरा में गाटा संख्या 22 व 24 के मालिक है और इसके मध्य चक मार्ग गाटा संख्या 23 है। लेकिन चिंतापुर बदन के ग्राम प्रधान द्वारा अपनी दबंगई व पैसे के बल पर अपने खेत के लिए उनकी जमीन में से चक मार्ग निकाल दिया गया है और उस पर मिट्टी भी डाल दी गई है तथा ग्राम प्रधान ने अभिलेखों के विपरीत अपनी दबंगई से अपने गाटा संख्या 25 के लिए उनके चक्र में होकर जबरन मिट्टी डालकर चक मार्ग बना लिया है।
पीडित किसान राजकुमार को अधिकारियों से न्याय नहीं मिलने पर किसान द्वारा अपने अन्य किसान साथियों के साथ तहसील सदर पर अपना कल से अनशन शुरू कर दिया गया है जो कि आज दूसरे दिन भी जारी रहा और किसान का कहना है कि जब तक उसे न्याय नहीं मिलेगा तब तक वह अनशन अपना खत्म नहीं करेगा तथा उसे आमरण अनशन की आवश्यकता पड़ी तो वह आमरण अनशन भी करेगा।पीड़ित किसान का कहना है कि उनका रकवा चकमार्ग में देने के कारण काफी कम हो गया है  और अभिलेखों के अनुसार मौके पर अधिकारियों द्वारा दबंगों द्वारा किए गए अवैध कब्जे को नहीं हटाया गया।  किसान द्वारा शुरू किए गए धरना एवं क्रमिक अनशन के दौरान किसान के साथ गांव के तमाम अन्य छोटे किसान और काश्तकार भी मौजूद थे। किसान द्वारा किए जा रहे अनशन को न्याय चक्र फाउंडेशन द्वारा भी अपना समर्थन दिया गया है।तहसील सदर पर धरने पर बैठने वाले एवं प्रदर्शन करने वाले किसानों में मनोहर सिंह,रामबाबू सिंह,राज कुमार सिंह,सुधीर कुमार,विजय पाल सिंह,
विष्णु मिश्रा,भगवान सिंह,
सुमित कुमार,रेशमपाल,देवेंद्र सिंह,रोशन सिंह,अमर सिंह,विमल कुमार,रामपाल सिंह,सोमेश,बाबू,रोहित, गोपाल सिंह आदि शामिल है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *