दिल्ली स्थित मदरसे के खिलाफ बवाल पर जमीयत उलेमा-ए-हिंद के प्रतिनिधिमंडल ने की डीसीपी से मुलाकात

Politics दिल्ली/ NCR धार्मिक नई दिल्ली
 त्वरित कार्रवाई से स्थिति सामान्य हुई, मस्जिद में जमात के साथ बहाल हुई नमाज
मदरसा प्रबंधक मुफ्ती जहूरुद्दीन ने जमीयत उलेमा-ए-हिंद के अध्यक्ष मौलाना महमूद असद मदनी को धन्यवाद दिया
मोर्निंग सिटी संवाददाता 
नई दिल्ली। जमीयत उलेमा हिंद के अध्यक्ष मौलाना महमूद असद मदनी के निर्देश पर जमीयत के एक प्रतिनिधिमंडल ने नई दिल्ली के सराय रोहिल्ला स्थित जामिया इस्लामिया अरबिया कासिम-उल-उलूम के मामले पर उत्तरी दिल्ली के पुलिस उपायुक्त सागर सिंह कलपी से मुलाकात की और इस मामले पर जमीयत उलेमा-ए-हिंद के अध्यक्ष की तरफ से एक ज्ञापन सौंपा। इस मौके पर मदरसे के मोहतमिम (प्रबंधक) मौलाना मुफ्ती जहूरूद्दीन भी उपस्थित रहे। जमीयत के प्रतिनिधिमंडल ने असामाजिक तत्वों द्वारा मदरसा की घेराबंदी करने और मस्जिद में कई दिनों से नमाज न होने देने के संदर्भ में शिकायत की और कहा कि वहां विरोध-प्रदर्शन के नाम पर लोगों को उकसाया जा रहा है और बुलडोजर चलाकर तोड़फोड़ की धमकी दी जा रही है। इन सभी परिस्थितियों से अवगत होने के बाद पुलिस उपायुक्त ने मदरसे के प्रबंधक को हर संभव सहायता का भरोसा दिलाया और बीट अफसर को निर्देश दिया कि पुलिसकर्मी मदरसे के प्रबंधक के साथ मौके पर जाएं और मदरसे की सुरक्षा करें। साथ ही कहा कि अगर असामाजिक तत्वों के विरुद्ध शिकायत की जाए तो उसे दर्ज कर के कड़ी कार्रवाई की जाए। अतः तुरंत कार्रवाई देर शाम की गई और मस्जिद में इशा की नमाज अदा की गई। नमाज अदा होने के बाद मौलाना मुफ्ती जहूरुद्दीन कासमी ने अपने ऑडियो संदेश में जमीयत उलेमा-ए-हिंद के अध्यक्ष मौलाना महमूद असद मदनी को धन्यवाद दिया। साथ ही जमीयत उलेमा-ए-हिंद के प्रतिनिधिमंडल की इस मामले का अच्छी तरह से प्रतिनिधित्व करने के लिए प्रशंसा की। जमीयत उलेमा-ए-हिंद के प्रतिनिधिमंडल में मदरसा बाब-उल-उलूम जाफराबाद के प्रबंधक मौलाना दाऊद अमीनी, सुप्रीम कोर्ट के अधिवक्ता मोहम्मद नूरुल्लाह, जमीयत उलेमा हिंद के सीनियर आर्गेनाइजर मौलाना ग़यूर अहमद कासमी, मदरसा जीनत-उल-कुरआन नांगलोई के प्रबंधक कारी अब्दुस्समी, जमीयत उलेमा-ए-हिं

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *