शिक्षित बेटियों से ही होगा सभ्य समाज का निर्माण – देवकीनंदन महाराज

education आगरा उत्तर प्रदेश स्थानीय समाचार

अगर बेटियाँ पढ़ नहीं पायीं तो यह समाज का नुकसान होगा – देवकीनंदन महाराज

मंदिर कोष से 125 छात्राओं को मिला 6,37,500 का ‘प्रियाकान्तजू कन्या विद्याधन

मथुरा । कल के सभ्य समाज के लिये आज बेटियों का शिक्षित होना बहुत जरूरी है । शिक्षित बेटियाँ अपने परिवार के संस्कारों को ही जीवित नहीं रखती बल्कि जीवनभर समाज और देश के विकास में अह्म भूमिका निभाती हैं । उक्त विचार ठा0 श्रीप्रियाकान्तजू मंदिर पर भागवत प्रवक्ता देवकीनंदन ठाकुरजी महाराज ने 125 कन्याओं को शिक्षा हेतु आर्थिक सहयोग प्रदान करते हुये कहे । उन्होनें बेटियों को प्रतीक रूप में 6 लाख 37,500 रूपये का चौक सौंपा ।

छटीकरा मार्ग स्थित प्रियाकान्तजू मंदिर पर आयोजित होली महोत्सव में बुधवार को ब्रज के जरूरतमंद परिवारों की 125 बेटियों को ‘प्रियाकान्तजू विद्याधन’ वितरित किया गया । मंदिर कोष के साथ विश्व शांति सेवा चौरीटेबल ट्रस्ट की ओर से प्रत्येक कन्या को 5100 की राशि प्रदान की गयी । यह राशि बेटियों के बैंक खातों में ट्रांसफर की जायेगी ।

भागवत सप्ताह के अंतिम दिवस प्रवक्ता देवकींनदन महाराज ने कहा कि अगर आज बेटियाँ पढेंगी तो कल वह शिक्षित और सभ्य समाज का निर्माण करेंगी । वे शिक्षा के प्रकाश से दो परिवारों को आलोकित करेंगी । उन्होने कहा कि ये निर्धन नहीं है जरूरतमंद हैं, इन्हें शिक्षा के लिये सहयोग की जरूरत है । अगर बेटिया अभावों के चलते पढ़ नहीं पायीं तो यह हमारे समाज का नुकसान होगा ।

विश्व शांति सेवा चौरीटेबल ट्रस्ट सचिव विजय शर्मा ने कहा कि वर्ष 2016 में प्रियाकान्तजू मंदिर स्थापना से ही जरूरतमंद परिवारों की 125 बेटियों को शिक्षा हेतु प्रतिवर्ष आर्थिक सहयोग प्रदान किया जाता है । मंदिर कोष एवं संस्था मिलकर अब तक कन्या शिक्षा पर 45 लाख रूपये व्यय कर चुके हैं । आगे भी इस दिशा में कार्य करते रहेंगे ।

प्रियाकान्तजू मंदिर पर गुरूवार दोपहर 12 बजे से सम्पूर्ण होली महोत्सव मनाया जायेगा । इस अवसर पर श्यामसुन्दर शर्मा, सुरेश गोयल, सतीश गर्ग, श्रीपाल जिंदल, शीतल त्यागी, गजेन्द्र सिंह, मीडिया प्रभारी जगदीश वर्मा, रोहित मीना, अमित कुमार आदि उपस्थित थे ।

फोटो परिचय: प्रियाकान्तजू मंदिर कोष से छात्राओं को आर्थिक सहयोग प्रदान करते हुये देवकीनंदन ठाकुरजी महाराज

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *