संवरने लगे आगरा मेट्रो के स्टेशन, फिनिशिंग का काम जारी

railway आगरा आगरा मेट्रो उत्तर प्रदेश स्थानीय समाचार

मोर्निंग सिटी संवाददाता

 

आगरा। शहरवासियों को आगरा मेट्रो का बेसब्री से इंतेजार है। शहर में आगरा मेट्रो रेल परियोजना के सिविल निर्माण कार्यों के शुभारंभ के बाद से लोगों के मन में यह जिज्ञासा है कि आखिर आगरा मेट्रो के स्टेशन कैसे दिखेंगे। ताज ईस्ट गेट से जामा मास्जिद के बीच बन रहे प्रायॉरिटी कॉरिडोर के ऐलिवेटिड भाग के सभी तीन स्टेशनों पर सिविल कार्य पूरा होने के बाद फिनिशिंग कार्य अंतिम चरण में हैं। ऐसे में अब आगरा मेट्रो स्टेशन अंतिम रूप लेने लगे हैं। यूपी मेट्रो द्वारा आगरा शहर ऐतिहासिक विरासत को ध्यान में रखते हुए जाली का प्रयोग किया जा रहा है।

इन स्टेशनों पर यात्रियों की सुविधा हेतु लिफ्ट-एस्किलेटर लगाए गए हैं। शहर में मेट्रो सेवा शुरू होने के बाद सभी स्टेशनों पर यात्रियों की सुविधा हेतु टिकेट काउंटर होंगे। इसके साथ ही स्टेशन परिसर में ऑटोमैटिक टिकट/टोकन वेंडिंग मशीन भी होंगी, जहां से यात्री खुद टिकट/टोकन खरीद पाएंगे। आगरा मेट्रो के सभी स्टेशनों पर ग्राहक सेवा सहायक की तैनाती भी की जाएगी। सभी स्टेशनों पर साफ – सुथरे वॉशरूम की सुविधा भी उपलब्ध होगी।

आगरा शहर की ऐतिहासिक विरासत में लाल पत्थर एवं मार्बल से निर्मित जालियों का महत्वपूर्ण स्थान है। ऐसे में यूपी मेट्रो द्वारा स्टेशन परिसर में जीआरसी निर्मित जालियों का प्रयोग कर ऐतिहासिक वास्तुकला को दिखाने को दर्शाने की कोशिश की जा रही है। पारंपरिक तौर पर प्रयोग की जाने वाली इन जालियों को पत्थर की खदानों से निकले पत्थरों को तराश कर बनाया जाता है। इन जालियों के निर्माण की प्रक्रिया में काफी मात्रा में धूल एवं मिट्टी के कण हवा में मिल कर वातावरण को प्रदूषित करते हैं। ऐसे में जीआरसी निर्मित जालियां इन पारंपरिक जालियों का ईको-फ्रेंडसी विकल्प हैं।ताज ईस्ट गेट, बसई और फतेहाबाद रोड स्टेशन आगरा शहर के सांस्कृतिक मूल्य और विरासत को ध्यान में रखते हुए बनाए जा रहे हैं। आने वाले वक्त में इन स्टेशनों पर ब्रज क्षेत्र की संस्कृति को दर्शाने वाली पेंटिंग भी बनाई जाएंगी। इसके साथ ही आगरा के मेट्रो स्टेशनों पर यात्रियों की सुविधा को ध्यान में रखते हुए अधुनिक लिफ्ट एवं एस्किलेटर भी लगाए गए हैं। आगरा मेट्रो के सभी स्टेशनों पर यात्रियों एवं महिला सुरक्षा को सुनिश्चित करने के लिए स्टेशन परिसर में चप्पे-चप्पे पर सीसीटीवी कैमरे लगाए जाएंगे। इसके साथ ही स्टेशन परिसर में कांच का अधिक से अधिक प्रयोग किया जाएगा। बता दें कि आगरा मेट्रो के सभी स्टेशनों पर पूर्णत: एलईडी लाइट्स का प्रयोग किया जाएगा। गौरतलब है कि ताजनगरी में 29.4 किमी लंबे दो कॉरिडोर का मेट्रो नेटवर्क बनना है, जिसमें 27 स्टेशन होंगे। ताज ईस्ट गेट से सिकंदरा के बीच 14 किमी लंबे पहले कॉरिडोर का निर्माण कार्य तेजी से चल रहा है. इस कॉरिडोर में 13 स्टेशनों का निर्माण होगा। जिसमें 6 एलीवेटिड जबकि 7 भूमिगत स्टेशन होंगे. इस कॉरिडोर के लिए पीएसी परिसर में डिपो का निर्माण किया जा रहा है। इसके साथ ही आगरा कैंट से कालिंदी विहार के बीच लगभग 16 कि.मी. लंबे दूसरे कॉरिडोर का निर्माण किया जाएगा, जिसमें 14 ऐलीवेटेड स्टेशन होंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *