शहर के सुदिती ग्लोबल एकेडमी मैं प्रेममूर्ति प्रेमभूषणजी महाराज के मुखारबिंद से श्रीराम कथा का शुभारम्भ

उत्तर प्रदेश मैनपुरी

श्रीराम कथा महोत्सव में पहले ही दिन उमड़े शहरवासी

मैनपुरी। भगवान राम के जीवन चरित्र का बोध कराने वाली जिस श्रीराम कथा श्रवण का इंतजार शुक्रवार को पूरा ही गया। नगर के सुदिती ग्लोबल एकेडमी परिवार की ओर से विद्यालय परिसर में आयोजित नौ दिवसीय श्री रामकथा महोत्सव का आगाज श्रीराम कथा के सरस कथावाचक परम पूज्य प्रेमभूषणजी महाराज के मुखारबिंद से श्रीराम कथा वाचन शुरू होने के साथ हो गया। पहलेे दिन कथा सुनने के लिए शहर के भक्तगण उमड़ पड़े। श्री प्रेमभूषणजी महाराज के कथास्थल पर व्यास पीठ पर पहुंचते ही पूरा पांडाल जय श्रीराम के जयकारों से गूंज उठा।

श्री प्रेमभूषणजी महाराज के व्यास पीठ पर विराजित होने से पहले व्यासपीठ की विधिवत पूजा की गई। उनके व्यास पीठ पर विराजने के बाद कथा संयोजक डॉ राम मोहन, डॉ कुसुम मोहन, लव मोहन, लवीना मोहन, मनीष पंवार, डॉ अजय पाल सिंह, सुशीला देवी डॉ आनंद मोहन, डॉ पी के पाठक, संजय गंभीर, डॉ सौरभ मिश्रा, संजय भटनागर, संदीप त्रिपाठी, डॉ प्रशांत यादव, शिवम आनंद, शिखा चौधरी आदि ने महाराज जी को माला पहनाकर और आरती उतारकर उनका आशीर्वाद लिया।
प्रेममूर्ति श्रीप्रेमभूषणजी महाराज ने श्री राम कथा की शुरुआत ‘‘ हम रामजी के रामजी हमारे हैंष् भजन से की तो पूरा पंडाल राममय हो गया। प्रेमभूषणजी महाराज ने कहा कि सरस रामकथा जीवन के लिए महत्वपूर्ण संदेश देने वाली है। रामकथा बताती है कि जीवन को किस तरह विकारों से मुक्त किया जा सकता है। कथा आयोजन के लिए डॉ राम मोहन की पहल की सराहना करते हुए कहा कि वर्तमान दौर में जब व्यक्ति परमार्थ छोड़ हम में उलझा हुआ तब रामकथा कराने वाला परम सौभाग्यशाली है। उन्होंने कहा कि श्री राम कथा दिमाग लगाने वाली कथा नहीं है यह दिल लगाने वाली कथा है। जो व्यक्ति राम कथा मैं दिमाग लगाते हैं उन की समझ मैं यह कथा नहीं आती जो कथा मैं दिल लगाते हैं राम कथा उनकी ही समझ मैं आती है। श्री राम चरित् मानस एक अलौकिक ग्रन्थ है। हम रामजी के रामजी हमारे है सेवा ट्रस्ट के तारकेश्वर मिश्र ने कथावाचक परम पूज्य प्रेमभूषणजी महाराज के व्यक्तिव के बारे में भी पूरी जानकारी दी। इस दौरान जिलाधिकारी श्री अविनाश कृष्ण सिंह, पुलिस अधीक्षक श्री कमलेश दीक्षित, अपर जिलाधिकारी श्री राम जी मिश्र, अपर पुलिस अधीक्षक श्री विजयपाल सिंह, श्री महेश चंद्र अग्निहोत्री, वीर सिंह भदौरिया, बीनू बंसल, अशोक गुप्ता पप्पू, पवन गोयल काका जी, चंद्र प्रकाश पाण्डेय, आशुतोष तिवारी, गौतम शाह, नवीन पालीवाल, मनीष तापडिया आदि मौजूद थे।
श्रीराम कथा का वाचन शहर के सुदिती ग्लोबल एकेडमी प्रांगण में 8 अक्टूबर तक प्रतिदिन दोपहर 3.30 बजे से शाम 8 बजे तक होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *