बौद्ध पर्यटन की दृष्टि से विकसित होगा जसराजपुर

उत्तर प्रदेश भोगांव मैनपुरी

भोगांव/मैनपुरी। पर्यटन एवं संस्कृति मंत्री जयवीर सिंह ने कहा कि प्रदेश सरकार प्रदेश मे पर्यटन के क्षेत्र में हर संभव प्रयास कर रही है पर्यटन को बढावा देने के लिए सरकार ने प्रदेश मे कई घोषणाये की है आने बाले समय में यूपी में पर्यटन को नये आयाम मिलेगे। तथा जसराजपुर बौद्ध पर्यटन की दृष्टि से विकसित किया जाएगा।
कैबिनेट मंत्री तथागत भगवान गौतम बुद्ध की अभिधम्म स्थली संकिसा के निकटवर्ती गांव जसराजपुर के निकट बाईबीएस सेंटर पर आयोजित भगवान बुद्ध की जयंती पर आयोजित कार्यक्रम मे मुख्य अतिथि के रूप मे उपस्थित लोगो को संबोधित कर रहे थे। उन्होने कहा कि भगवान बुद्ध ने पूरे विश्व मे मानवता का सन्देश दिया था हम लोग भी उनके आदर्शो पर चले। उन्होने कहा कि भगवान बुद्ध ने बौद्ध धर्म को बढावा देने के लिए जो रास्ता बताया उस पर अमल करना चाहिए। दुनिया मे बौद्ध धर्म को शांति का प्रतीक भी माना जाता है। उन्होने कहा कि प्रदेश सरकार ने पूरे प्रदेश में पर्यटक स्थलो के कायाकल्प करने की योजना बना ली है तथा कई पर्यटक स्थलो पर काम भी चल रहा है, संकिसा को भी पर्यटक स्थल के रूप मे विकसित किया जायेगा। इसमे धन की कोई कमी नही आने दी जायेगी। जो विवाद है वो आपस मे बैठक सुलझा दिया जायेगा ताकि इस क्षेत्र का तेजी से विकास हो सके। बदंायु सांसद संघमित्रा मौर्या ने कहा कि भगवान बुद्ध क्षत्रिय कुल के थे हम लोगो का दायित्व है कि उस धरोहर को संभाल कर आगे बढना चाहिये। प्रदेश एंव केन्द्र सरकार इसके लिए पूरा प्रयास कर रही है। विधायक सुशाील शाक्य ने कहा प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने फर्रुखाबाद के पर्यटन स्थल के लिये 35 करोड की राशि आवंटित की है, जिसमे 10 करोड रूपये जमीन खरीदनें मे खर्च किये जायेगे। इससे पूर्व पर्यटन मंत्री ने भगवान बुद्ध की प्रतिमा के समक्ष मोमबत्ती प्रज्वलित की।
कार्यक्रम में पहुंचने पर पर्यटन मंत्री जयवीर सिंह, सांसद बदांयु डॉ. संघमित्रा मौर्या व विधायक अमृतपुर सुशील शाक्य, जिपं अध्यक्ष मोनिका सिंह का बाईबीएस के राष्ट्रीय अध्यक्ष सुरेश बौद्ध, मैनपुरी के प्रमुख उद्योगपति पियूष चंदेल, रामप्रकाश मौर्या, मनोज सत्यार्थी, बृजकिशोर, उपेन्द्र भन्ते, नरवेश कुमार आदि ने प्रतीक चिन्ह भेंटकर व अंग बस्त्र भेंटकर, पंचशील पटका पहनाकर व माल्यार्पण कर भव्य स्वागत किया। पर्यटन मंत्री ने सकिंसा के बिभिन्न स्थलों का भी निरीक्षण किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *