कासगंज में कड़ी सुरक्षा व्यवस्थाओं के बीच शांतिपूर्ण ढंग से हुआ मतदान।

Politics उत्तर प्रदेश
कासगंज! कासगंज जिलाधिकारी/जिला निर्वाचन अधिकारी हर्षिता माथुर एवं पुलिस अधीक्षक रोहन प्रमोद बोत्रे के कुशल दिशा निर्देशन तथा भारत निर्वाचन आयोग द्वारा तैनात प्रेक्षक गणों की मौजूदगी में जनपद कासगंज के तीनों विधानसभा क्षेत्रों 100-कासगंज, 101-अमांपुर तथा 102-पटियाली में भारी सुरक्षा व्यवस्थाओं के बीच शांतिपूर्ण ढंग से मतदान हुआ।
जिलाधिकारी व पुलिस अधीक्षक ने सुबह से ही निकल कर दिन भर कासगंज, सोरों, सहावर, गंजडुण्डवारा, पटियाली, दरियावगंज, भरगैन, सिढ़पुरा, अमांपुर होते हुये जिले के विभिन्न नगरीय एवं ग्रामीण क्षेत्रों में पहुंच कर मतदान केन्द्रों का भ्रमण करते हुये सुरक्षा व्यवस्थाओं का जायजा लिया। सभी पोलिंग बूथों पर शांतिपूर्ण ढंग से मतदान चल रहा था। मतदाता गण, लोकतंत्र को मजबूती प्रदान करने के लिये पूरे उत्साह के साथ अपने मताधिकार का उपयोग कर रहे थे। जिलाधिकारी ने अधीनस्थ अधिकारियों को भयमुक्त, शांतिपूर्ण, निष्पक्ष, निर्विघ्न एवं व्यवस्थित ढंग से मतदान कराते रहने के लिये प्रोत्साहित किया। जिलाधिकारी व पुलिस अधीक्षक ने मतदाताओं को मतदान के लिये प्रेरित करने के उद्देश्य से नगर पालिका परिषद कासगंज में बनाये गये वोटर सेल्फी प्वाइंट पर फोटो खिंचाते हुये मतदाताओं से आह्वान किया कि अपना वोट अवश्य डालें। आपका एक एक वोट बहुत ही महत्वपूर्ण है। सबसे पहले मतदान उसके बाद जलपान।
जिलाधिकारी ने बताया कि विधानसभा सामान्य निर्वाचन 2022 को स्वतंत्र निष्पक्ष एवं शान्ति पूर्ण ढंग से सम्पन्न कराने के लिये जनपद के तीनों विधानसभा क्षेत्रों कासगंज, अमांपुर व पटियाली में 10,32,979 मतदाता हैं। जिनमें 551733 पुरूष तथा 481195 महिला व 51 अन्य मतदाता हैं। जिनके लिये 1233 मतदेय स्थल, 03 सहायक मतदेय स्थल तथा 819 मतदान केन्द्र बनाये गये। भारत निर्वाचन आयोग द्वारा जारी गाइडलाइन के अनुसार मतदान को भयमुक्त, व्यवस्थित एवं शांतिपूर्ण ढंग से सम्पन्न कराने के लिये जिले में 11 जोनल तथा 94 सेक्टर मजिस्ट्रेट एवं भारी संख्या में सुरक्षा बल लगाया गया। मतदान कराने के लिये रिजर्व सहित कुल 1362 पोलिंग पार्टियां तैनात की गईं। जिनमें पीठासीन सहित कुल 5448 मतदान कार्मिकों की ड्यूटियां लगाई गईं। सामान्य मतदाताओं, महिला एवं दिव्यांग मतदाताओं को मतदान के प्रति प्रेरित करने एवं उन्हे सहयोग के लिये चयनित पोलिंग बूथों को मॉडल बूथ, सखी बूथ तथा दिव्यांग बूथ भी बनाया गया। मतदाताओं को आकर्षित करने के लिये पोलिंग बूथों को झालरों और गुब्बारों से सजाया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *