ग्राम प्रधान संगठन ने प्रधानो की समस्याओ को लेकर दिया डीएम को ज्ञापन

इटावा उत्तर प्रदेश
इटावा। राष्ट्रीय पंचायतीराज ग्राम प्रधान संगठन इटावा उत्तर प्रदेश ने ग्राम प्रधानो की विभिन्न समस्याओ को उजागर करते हुये मुख्यमंत्री व राज्यपाल को 18 सूत्रीय मागो के साथ जिला अधिकारी कार्यालय इटावा मे एकत्रित होकर  मती श्रुति सिंह जिलाधिकारी को ज्ञापन दिया।
ज्ञापन मे प्रधानो नें माग की है कि प्रदेश मे संचालित 7000 गौशलाओ मे दिया जा रहा धन नाकाफ़ी है इसे बढाकर 70 रुपये प्रति गाय किया जाये। मुख्यमंत्री द्वारा 15 दिसम्बर 2021 को की गयी घोषणाओ के अनुसार मनरेगा के वित्तीय अधिकार प्रधानो को हस्तांतरित किये जाये। कार्य की एमबी होने के तुरंत बाद भुगतान कराया जाये। ब्लाक के सचिवो का समायोजन का अधिकार खण्ड विकास अधिकारी को दिया जाये। कठोरतम मिट्टी की खुदाई मे जेसीवी के प्रयोग की अनुमति दी जाये। ग्राम पंचायतो मे बजट आवादी के अनुसार दिया जाये। इसी प्रकार बृक्षारोपण आधिक से अधिक कराने,भूमि पृवन्धन मे लेखपाल की हर माह बैठक, आगनबाड़ी केन्द्र का संचालन, पडती भूमि मे चर उगाने की अनुमति ग्राम पंचायतो को दी जानी चाहिये, प्रधानो को भत्ता कम से कम 15000 रुपये दिया जाये तथा सदस्यॉ को 3000 रुपये देने की व्यवस्था की जाये। कम्पुटर सहायक के वेतन की व्यवस्था अलग से हो प्रधान की सुरक्षा हेतु शस्त्र लह्शंस और गार्ड की व्यवस्था करायी जाये। सचिव व लेखपालो की तैनाती पंचायतो मे 2 वर्ष से अधिक नही रहनी चाहिये 2 वर्ष से अधिक होने पर उन्हे स्थांतरित किया जाये। प्रधानो के विवेकशील कोष की स्थापना तुरंत की जाये। स्कूल कायाकल्प का पैसा स्कूल के खातो मे ही दिया जाये।
इस अवसर पर जिलाध्यक्ष विजय प्रताप सिंह सेगर, जिला प्रवक्ता डा राजेश सिंह चौहान, जिला  महामंत्री विकास कठेरिया, जिला संगठन मंत्री रजनीश शर्मा, अमित भदौरिया, हर्गोविब्द सिह ब्रजेन्द्र सिंह, किरण देवी, प्रभा कान्त, संजय प्रताप सिंह, राजेश कुमार, श्याम बाबू, कृपशकर, विजय सिंह, लक्ष्मी कठेरिया, महेंद्र कुमार, वीरेंद्र सिंह, इन्द्रपाल सिंह, कमला देवी, पूनम कुमारी, अभिलाख सिह, रमौतार सिंह, विश्वनाथ सिंह, ब्रजेन्द्र सिंह, शालनी प्रधान आदि बड़ी संख्या मे प्रधान उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *