आरोपियों के खिलाफ सख्त कार्यवाही के लिए आईजी से मिला पीड़ित परिवार 

Crime Exclusive आगरा उत्तर प्रदेश स्थानीय समाचार
मोर्निंग सिटी संवाददाता 
आगरा। शादी के बाद भी विवाहिता को फोन कॉल करके और व्हाट्सएप पर अशलील मैसेज करके युवती को परेशान करना व ससुराल पहुँचकर ससुरालियों को भड़काने से आजिज आकर विवाहिता ने आत्महत्या कर ली। इस मामले में विवाहिता के पिता ने आरोपी युवकों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया लेकिन पुलिस की लचर कार्यप्रणाली ने दोनों ही युवकों को जमानत दिला दी। अब आरोपी युवक और उनका परिवार पीड़ित परिवार को धमका रहा है। पीड़ित पिता और परिजनों ने आईजी रेंज की चौखट खटखटाई है और इंसाफ की गुहार लगाई है।
थाना बसई मोहम्मद पुर क्षेत्र का है मामला:-
यह पूरी घटना फिरोजाबाद के थाना बसई मोहम्मद पुर क्षेत्र की है।  प्रार्थी ने बताया कि उसने अपनी बेटी की तीन वर्ष पहले जितेंद्र पुत्र प्रेमचंद से शादी की थी। उसके बाद से ही नागर निवासी मनोज पुत्र भोगीराम और अरूण पुत्र उदयभान बेटी को परेशान करने लगे। शादी के बाद से ही बेटी को फोन करके परेशान करने लगे। अश्लील मैसेज करने लगे और अपनी मांग को पूरा कराने के लिए बेटी पर दबाब बनाने लगे। बेटी ने जब परिजनों से शिकायत की तो दोनों युवकों को हड़काया। इसके बाद दोनों युवकों का दुस्साहस और बढ़ गया वो बेटी के ससुराल पहुँच गए जिससें बेटी उनकी नाजायज मांग को मान ले। युवकों ने बेटी को परेशान करने के लिए हर तरीका अपनाया। जब बेटी की नही चली और कोई चारा न होने पर बेटी ने आत्महत्या कर ली।
पुलिस ने नही की उनकी मदद,लचर कार्यप्रणाली से मिली आरोपियों को जमानत:-
पीड़ित परिवार के लोगों का कहना है कि बेटी को इंसाफ मिले इसके लिए उन्होंने क्षेत्रीय थाने में तहरीर देकर मुकदमा दर्ज कराया पुलिस ने मुकदमा तो दर्ज किया लेकिन आरोपियों के खिलाफ कोई सख्त कार्रवाई का कदम नहीं उठाया जबकि उन्होंने अपनी बेटी और दोनों आरोपियों के मोबाइल नंबर दिए थे और उनकी व्हाट्सएप चैट वा रिकॉर्डिंग निकलवाने की मांग की थी पुलिस ने इस मांग पर भी कोई ध्यान नहीं दिया पुलिस द्वारा ठोस सबूत पेश न किए जाने के चलते उन्हें आसानी से जमानत मिल गई।
जान से मारने की मिल रही है धमकी:-
पीड़ित परिवार के लोगों का कहना है कि अब जब आरोपी जमानत लेकर बाहर आ गए हैं तो इस केस को खत्म करने और वापस लेने के लिए धमकियां दे रहे हैं इतना ही नहीं वह दो टूक शब्दों में कह रहे हैं कि अगर केस वापस नहीं लिया तो वह उनके परिवार के सदस्यों को भी  जान से मार देंगे।
आईजी रेंज से मामले की जांच की लगाई गुहार:-
पीड़ित परिवार का कहना है कि आईजी रेंज आगरा से मुलाकात की है प्रार्थना पत्र देकर बेटी के मामले की निष्पक्ष जांच की मांग उठाई है साथ ही उन्होंने गुहार लगाई है कि किसी और थाने में उनकी बेटी की मामले की इन्वेस्टिगेशन ट्रांसफर कर दी जाए जिससे उनकी बेटी की मामले की जांच निष्पक्ष तरीके से हो और बेटी को इंसाफ मिल सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *